Tag: kuch baatein

कुछ बातें!

बिखरी हुई यादों को समेटता आज भी मेरा मन क्यूँ उस छाया को छूना चाहता है जो समय की गहराईयों में कहीं खो गयी थी रह रह कर मेरा दिल वापस लौटना चाहता था क्यूंकि अतीत के पन्नों पर कुछ बातें अनकही सी थी! उन ख्यालों के भंवर में कुछ बातें अनसुनी सी थी कुछ … Continue reading कुछ बातें!

Advertisements